Web Hosting In Hind।Full Information in Hindi।

Web hosting Hindi images
Web Hosting

नमस्कार दोस्तो कैसे हो आप।आशा है अच्छा ही होंगे।पोस्ट की शुभारंभ करने से पहले आपको कुछ सवाल करना चाहता हूं। क्या आप ऑनलाइन दुनिया में खुदकी पहचान बनाना चाहते है?या फिर क्या आप अपनी टैलेंट या बिजनेस को वेबसाइट के जरिए ऑनलाइन ले जाना चाहते हैं,या फिर आप Blogging की फील्ड में आना चाहते हैं।

अगर हां,तो आपको ये पोस्ट जरूर पड़ना चाहिए।क्योंकि ये पोस्ट की जानकारी आपको बोहोत ही फायदा पौंछा सकता है।

आप सोच रहे ये बंदा इतनी बातें किस बारे में कर रहा है।
तो आपके बता दे हम जो बात कर रहे हैं तथा ये पोस्ट में करने वाले हैं वो आपकी Blogging की कैरियर को प्रभावित कर सकता है।
जी हां आज का हमारा विषय वेबसाइट की Hosting को ले कर करके है।बोहोत सारे लोग इस विषय में अनजान होते है।तथा उनके मन में ये प्रश्न की Hosting क्या है भी जरूर आते होंगे।
अगर आप भी उन सब लोगों में से एक है।तो ये पोस्ट Web Hosting In Hindi सिर्फ ओर सिर्फ आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए ही बनाया गया है।
आज की इस पोस्ट में हम Hosting की जानकारी ले पाएंगे।इसीलिए आप इस पोस्ट में हमारे साथ अंत तक बने रहिए और जानकारियां पाते रहे।तो चलिए बिना देर किए जानते है ओर समझते हैं अपने विषय को।

Web Hosting In Hindi


डिजिटल दुनिया में ये शब्द एक आम शब्द है।वेब होस्टिंग आज की दुनिया में बोहोत ही चर्चित ओर पॉपुलर विषय है।क्योंकि खास कर भारत में डिजिटल क्रांति आने के बाद वेबसाइट भी बोहोत संख्या में बनाया जाने लगा।

बोहोत लोग इस फील्ड में आने लगा।चाहे वो अपने बिजनेस को ऑनलाइन ले जाने के लिए हो या फिर ब्लॉगिंग के लिए हो बोहोत ही ज्यादा संख्या में वेबसाइट बनाया गया है ओर आगे भी बनना जारी रहने वाला है।

ऐसे में Hosting का जानकारी रखना उन लोगो को लिए बोहोत फायदेमंद होने वाला है जो इस फील्ड में आना तथा एक वेबसाइट बनाना चाहता हो।
इसलिए पहले हम सबको इस बाक्य Hosting का मतलब समझना होगा।तो आई ये पहले हम Web Hosting का मतलब समझे।

Hosting क्या है?


Hosting एक तरह का जगह होता है जहां पे वेबसाइट्स का फाइल तथा जो डाटा वेबसाइट में होता है वो रखा जाता है।
बिना Hosting के वेबसाइट की मजुदगि  कल्पना नहीं किया जा सकता।क्योंकि अगर वेबसाइट में मजुद इंफॉर्मेशन का रखने का कोई जगह नहीं होगा तो वेबसाइट का होना भी ना मुमकिन है।
आज की दर में इंटरनेट में मजुद हर एक वेबसाइट कि Hosting होता है।
Hosting में मजुद फाइल्स कुछ भी हो सकता है जो वेबसाइट्स में मजुद हो।
इसमें Text,image,videos प्रमुख है।

Hosting का मतलब एक और भी तरीके से समझा जा सकता है जिसमें अगर आप अपने मोबाइल में Offline Video देख ना चाहते हैं तो आपको पहले उस वीडियो को रखने के लिए आपके फोन में जगह का होना आवश्यक होता है।
ऐसे में अगर आप के मोबाइल में जगह नहीं होगी तो आपके पास कितना वीडियो डाउनलोड करने के लिए डाटा मजुद हो आप उस वीडियो को अपने फोन में डाउनलोड नहीं कर सकते तथा उस वीडियो को आप अपने फोन में नहीं देख सकते।

एक सरल उदहारण ओर भी है जिसके जरिए आप Hosting का मतलब आसानी से समझ पाएंगे।
इसमें आप अपने घर को ही Hosting का समान समझ सकते हैं।जिसमें आपको रहने के लिए एक घर का जरूरत होता है ठीक उसी तरह जैसे किसी वेबसाइट का फाइल्स को रखने के लिए भी एक जगह का जरूरत होता है ओर ये ही ऑनलाइन दुनिया में Hosting का नाम से मसूर है।

Hosting कितने प्रकार के होते हैं(Types of Hosting In Hindi)?


जैसा कि आपको पहले पता हो चुका है की ये Hosting एक तरह के Online Space (जगह) होता है।ऐसे में ये जगह भी भिन्न भिन्न तरह के होता है वेबसाइट के मामले में।
प्रमुख रूप से तीन तरह का होस्टिंग बोहोत ही प्रचलित है Websites Developer के बीच में। इसमें है

Shared Web Hosting


अगर एक ही सर्वर में बोहोत संख्या में डाटा अलग अलग वेबसाइट का मजुद होता हो तो उसे Shared Web Hosting कहां जाता है।
ऐसे में किसी भी साइट का डाटा बोहोत से साइट के डाटा के साथ रखा जाता है।
इस वेब होस्टिंग की सबसे खास बात होता है कि ये औरों होस्टिंग के मुकाबले बोहोत ही कम पैसे मिल जाता है।

आप Shared web Hosting को एक सरल उदहारण से भी समझ सकते है। जिसमें अगर आप किसी घर में बोहोत से लोगो के साथ कुछ पैसा दे कर एक साथ रहते हैं तो घर को आप Shared Web Hosting के समान समझ सकते हैं।

Shared Web Hosting ओर कुछ नहीं बस एक जगह है जिसमें आप अपनी वेबसाइट का डाटा किसी ओर वेबसाइट कि डाटा साथ रखते हैं।

Shared Web Hosting के फायदे


  1. किसी नई वेबसाइट तथा जिसमें मासिक विजिटर कम आता हो उसके लिए ये होस्टिंग बोहोत ही अच्छा है।
  2.  ये होस्टिंग खरीदने में ज्यादा पैसा खर्च करने का जरुरत नहीं होता। 
  3. ज्यादा Techincally skill person का जरूरत नहीं होता।

Shared Web Hosting के नुकसान


  1. एकसाथ ज्यादा वेबसाइट का इंफॉर्मेशन मजुद होने के कारण इसकी सबसे बड़ा प्रभाव वेबसाइट लोडिंग टाइम पर पड़ता है।इस होस्टिंग के कारण वेबसाइट की लोडिंग टाइम बड़ने का संभावना बढ़ जाती है। ये
  2. अन्य होस्टिंग के मुकाबले कम सिक्योर होता है।


VPS web hosting


VPS यानी virtual Private Server।ये होस्टिंग Shared Web hosting के मुकाबले ज्यादा सेक्योर माना जाता है।इस वेब होस्टिंग में सर्वर की किसी खास हिस्से में वेबसाइट का इंफॉर्मेशन स्टोर किया जाता है जहां किसी दूसरे वेबसाइट कि इंफॉर्मेशन मजुद ना हो।

आप इसे इस तरह समझ सकते हैं जिसमें आप एक फाइव स्टार होटल में एक कमरा लिए हैं ओर सिर्फ आप ही उस कमरे में एकेले रहेंगे।
ठीक उसी तरह जैसे कि इस होस्टिंग में सर्वर की किसी पार्ट में एक ही वेबसाइट का डाटा रहता है।

VPS web hosting के फायदे


  1. ये होस्टिंग Shared वेब होस्टिंग से सिक्योर माना जाता है। 
  2. अगर वेबसाइट में ज्यादा ट्रैफिक आता है तो ये होस्टिंग सबसे अच्छा है।ये होस्टिंग shared वेब होस्टिंग के मुकाबले ज्यादा ट्रैफिक बाले ब्लॉग को हैंडल कर सकता है।

VPS web hosting के नुकसान


  1. इस होस्टिंग काफी costly है खास कर Shared Web Hosting के तुलना में।
  2. इसमें Technical skill जरूरी होता है।


Dedicated Web Hosting


ये अभी तक के सबसे सिक्योर माने जाने वाला होस्टिंग है।इसमें किसी वेबसाइट के इंफॉर्मेशन के लिए एक अलग Server मौजूद होता है,ठीक वैसे ही जैसे आपके लिए आपका पूरा घर मजुद होता है।

इस होस्टिंग में वेबसाइट के लिए अलग तरीके से Physical Server का इस्तमाल किया जाता है।

Dedicated Web Hosting के फायदे


  1. ये सबसे serure वेब होस्टिंग है।
  2.  इस होस्टिंग में वेबसाइट की owner की हाथ पूरी दायित्व होता है तथा Access करने का power भी होता है।
  3. ये होस्टिंग ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक वाले वेबसाइट के लिए बोहोत फायदेमंद है।

Dedicated Web Hosting के नुकसान


  1. ये होस्टिंग बोहोत ज्यादा Costly है।
  2. इसमें Technical skill आवश्यक होता है।


क्या वेब होस्टिंग फ्री में मिलता है(Free Hosting in Hindi)?


आप सोच रहे होंगे कि आखिर Hosting क्या फ्री में मिलता है।
तो आपको बता दे कि अगर आप फ्री में होस्टिंग लेना चाहते हैं तो आप Blogger में अपने साइट को क्रिएट कर सकते हैं।

इसमें आपको होस्टिंग तथा डोमेन के लिए भी कोई खर्च नहीं करना पड़ता है।

या फिर मान लीजे अगर आप ब्लॉगर में अपनी वेबसाइट को क्रिएट करके एक कस्टम डोमेन खरीद भी लेते हैं तो भी आपको होस्टिंग फ्री में मिल जाता है।
वहीं पे अगर आप वर्डप्रेस में साइट को क्रिएट करते हैं ओर कस्टम डोमेन ले लेते हैं तो आपको होस्टिंग फ्री में नहीं दिया जाता।
इसमें आपको होस्टिंग अलग से खरीदना पड़ता है।
इसीलिए आप Blogger में अपनी साइट को क्रिएट करके आसानी से Hosting फ्री में ले सकते हैं।

ऐसे में ओर भी साइट हो सकता है जो आपको फ्री में होस्टिंग देने का दावा करता हो।लिकिन अगर बात करे ब्लॉगर वेबसाइट की तो ये Google का ही एक साइट होने के नाते आप इसे भरोसा कर सकते हैं।

अब शायद आप सोच रहे होंगे कि ये फ्री होस्टिंग की set up किस तरह होता है।
तो आपको बता दे इसमें कोई Set Up की जरूरत नहीं होता,बस जब आप ब्लॉग को Blogger वेबसाइट में क्रिएट करते हैं तो आपको फ्री में Hosting ओर Domain दे दिया जाता है।

Web Hosting कहां से खरीदें?


अब अगर आप अपने वेबसाइट के लिए होस्टिंग खरीदना चाहते हैं तो आप आसानी से खरीद सकते हैं।
इंटरनेट में बोहोत से legit website मौजूद है जिससे आप आसानी से थोड़ा बोहोत खर्चा करके अपने वेबसाइट के लिए होस्टिंग खरीद सकते हैं।
लिकिन ठेरिए उन वेबसाइट्स का नाम जान ने से पहले आपको कुछ word का मतलब पता होना बोहोत जरूरी है ताकि आप होस्टिंग खरीदने के समय Confuse ना हो जाए।उसमे है

Disk Space


Hosting कितने storage capacity वाला है आप इससे पता लगा सकते है।जैसे फोन में होता है 16 GB ओर 32GB का space,ठीक उसी तरह Hosting में भी रहता है Space ओर Disk Space के मदद से ही हम इसे पता लगा सकते हैं।

Bandwidth


एक वेबसाइट के द्वारा कुछ समय में जितने डाटा एक विजिटर को Deliver किया जा सकता है उसी को Bandwidth कहां जाता है।
ऐसे में जितना ज्यादा आपका Bandwidth होगा उतना ही आपके वेबसाइट का performance Improve होगा।

Uptime and Downtime


आपके वेबसाइट जितना समय Avaliable रहता है यानी Server active रहते हैं उसी समय को Uptime कहां जाता है।
Downtime उसिको माना जाता है जितना समय आपके वेबसाइट के server Down रहता है अर्थात जितना समय वेबसाइट खुल नहीं पता।
Uptime ओर Downtime को Percentage में मापा जाता है।

ये तो हो गया उन Word के बारे में थोड़ा बोहोत जानकारी।चलिए अब जानते उन Legit वेबसाइट के नाम जहां से आप Hosting खरीद सकते हैं,जिसमें

  • Godaddy
  • Hostinger
  • Hostgator
  • Bluehost
  • A2hosting
  • Milesweb
  • Kinsta
  • Inmotion Hosting
  • Siteground
  • Bigrock इत्यादि प्रमुख है।
ध्यान रखे ऊपर दिए गए किसी भी वेबसाइट से Hosting खरीदने से पहले उस वेबसाइट के बारे में खुद से पूरी जांच पड़ताल जरूर करें।

Conclusion


तो कैसा लगा आपको Web Hosting In Hindi में जानकर।आशा है अच्छा ही लगा होगा।शायद आपका सारी confusion मिट गया होगा।
इस आर्टिकल के बारे में आपका राय क्या है कमेंट के जरिए जरूर बताना।
ऐसे ही पोस्ट सबसे पहले पढ़ने के लिए इस ब्लॉग का नोटिफिकेशन जरूर allow करे या फिर आप SaRaisay को Instagram या Twitter में भी फॉलो कर सकते है।
तो आजके लिए इतना ही आपसे फिर मुलाकात होगा एक नए ओर ज्ञान पूर्वक पोस्ट के साथ तब तक के लिए खुश रहिए,मजे में रहिए।
                         जय हिन्द
                              बंदे मातरम

टिप्पणी पोस्ट करें

2 टिप्पणियां

🚫🚫अगर Comment Box में Hyperlink या किसी तरह का link हो तो ये Spam माना जाएगा।🚫🚫
आशा करता हूं कि आप comment में User Friendly सब्द लिखेंगे।
धन्यवाद..........