Chandrayan 2 Kya hai—जानिए सब कुछ इस मिशन की बारे में।

Chandrayan 2

हेल्लो दोस्तो मेरा ब्लॉग SaRaisay में आप सबका स्वागत है।दोस्तो आज हम बात करने वाले हैं भारत की गर्व चंद्रयान 2 मिशन की बारे में।आप ने टीवी में या फिर किसी भी सोशल प्लेटफॉर्म यह जरूर सुने होंगे की भारत की स्पेस एजेंसी इसरो ने हाल ही में एक नया मिशन लॉन्च किया है।लिकिन आप शायद कंफ्यूज होंगे कि असल में चंद्रयान 2 मिशन है क्या।तो दोस्तो आज हम वही बताने वाले हैं ।आज आपको चंद्रयान 2  के बारे में सारी जानकारी हिंदी में मिल जाएगी तो आप ब्लॉग को अंत तक पढ़ ते रहिए। 


♦चंद्रयान 2 मिशन क्या है?


चंद्रयान 2 मिशन ,पहला चंद्रयान के बाद दूसरा चंद्रमा पर किया जाने वाला अन्वेषण मिशन है जो कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन द्वारा विकसित किया गया है।
चंद्रयान 1 से हुआ खामियां को पूरा करने के लिए ये चंद्रयान 2 का प्रस्ताव रखा गया था।

♦चंद्रयान 2 कहां से लॉन्च किया गया था?

चंद्रयान 2 , हरीकोटा की सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया गया था।

♦चंद्रयान 2 में क्या क्या सामिल है?

चंद्रयान 2 में कुल मिलाकर चार चीजे सामिल है।
1. लॉन्चर
2. ऑर्बिटर 
3. लैंडर,जिस को बिक्रम नाम दिया गया है।ओर इसका काम है चंद्रमा पे लैंड करना।
4. रोवर,यानी प्रज्ञान एक छ पहयो वाला वाहन है।जिसके काम है चंद्रमा की सतह की जानकारी लेना ओर उसे मैन सेंटर पे भेजना।

♦चंद्रयान 2 का कितना वजन है?

चंद्रयान 2 का बजन करीब 3850 किलोग्राम है जो चंद्रयान 1 की कुल बजन(1380 किलोग्राम) से भी बोहोत ज्यादा है।

♦चंद्रयान 2 को कोन सि लॉन्चर से लॉन्च किया गया था?

चंद्रयान 2 को “जीएसएलवी मार्क 3” से प्रक्षेपित किया गया था।

♦चंद्रयान 2 का लॉन्च कब किया गया?

इसका लॉन्च किया गया था 2019 का 22 जुलाई को।

♦चंद्रयान 2 का लॉन्च करने का मेन उद्देश्य क्या था?

चंद्रयान 1 से जितने भी कार्य सफल हुआ है उस दायरा को बढ़ाना।ओर चन्द्रमा की सतह की जानकारियां प्राप्त करना।

♦चंद्रयान 1,चंद्रयान 2 से कितने अलग है?

  1. चंद्रयान 1, को लॉन्च किया गया था 2008 की 22 अक्टूबर को।लिकिन चंद्रयान 2, 2019 में लॉन्च किया गया।
  2. चंद्रयान 1 का वजन करीब 1380 किलोग्राम था,ओर उहान पे चंद्रयान 2 का वजन करीब 3850 किलोग्राम है।
  3. चंद्रयान 2 को लॉन्च किया गया था “जीएसएलवी मार्क 3” लॉन्चर के जरिए जबकि चंद्रयान 1 को “पीएसएलवी सी ॥ ”से लॉन्च किया गया था।
  4. चंद्रयान 2 में एक लैंडर बिक्रम ओर एक रोवर प्रज्ञान    को जोड़ा गया था जिससे बोहोत सारे चंद्रमा का बारे में तथ्य हासिल करेगा।                जबकि चंद्रयान 1 के साथ ऐसे कोई उपकरण नहीं जोड़ा गया था।
तो दोस्तो यह था कुछ चंद्रयान 2 का सबसे ज्ञानपुरबक तथ्य।आशा करता हूं कि आप सबको यह आर्टिकल पढ़के थोड़ा सा ज्ञान बढ़ा होगा।

ऐसे ही ज्ञानपुर्वक आर्टिकल पड़ने के लिए हमारे साथ बने रहिए।

            जय हिन्द.............
                       बंदे मातरम.............
           
                                                         धन्यवाद।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां