Bluelight क्या है? मोबाइल की ब्लूलाइट क्या होता है?इससे बचे कैसे?

हेल्लो नमस्कार दोस्तो मेरा ब्लॉग SaRaisay में आप सबका स्वागत है।आज में आप सबके साथ एक ऐसे बिषई की बारे में बात करने वाले हूं जो आप रोज़ सामना करते हैं।दोस्तो आज कल एंड्रॉयड फोन आने के बाद हमारा दिनचर्या बोहोत बदल सा गया है।आज हम दिन रात सिर्फ मोबाइल में ही लगे रहते हैं,अगर कुछ काम नहीं फिर भी मोबाइल में ही busy रहते है।दोस्तो ये सब में अगर किसी को नुक्सान हो रहा है तो वो सिर्फ आप है।जी हां दोस्तो बोहोत जादा समय तक मोबाइल चलाने से आप को आंखो का प्रॉब्लम हो सकता है।
ओर ये आंखो का प्रॉब्लम होने का बजह आप की मोबाइल फोन से निकलने वाला ब्लूलाइट है।
•Bluelight है क्या?
Bluelight क्या है?
Bluelight क्या है?

आप को बता दे  कि ब्लूलाइट Light spectrum में रहने वाला एक प्रकार की ब्लू रोशनी होता है जिसका wavelength करीब 450nm से 490nm होता है।
अगर आप देर रात तक मोबाइल फोन  इस्तमाल करते हैं तब आपको ब्लूलाइट से  होने वाले खतरा की probability बढ़ जाएगा। आपको बता दे कि फोन यूज करने के बाद रात में नींद ना आनेका समस्या इस ब्लूलाइट का ही परिणाम होता है।
 •हमलोग इस ख़तरनाक ब्लूलाइट से कैसे बचें?
दोस्तो वैसे तो हमारे एन्वाइरन्मेंट में ओर सूर्य से भी ब्लूलाइट पाई जाती है।लिकिन आज कल आर्टिफिशियल ब्लूलाइट का इस्तमाल बोहोत काफी मात्रा में होने लगा है।मोबाइल में तो होता ही है टीवी ,इलेक्ट्रॉनिक devices में भी इसका इस्तमाल जोरो शोरो से चल रहा है।
लिकिन मोबाइल से निकलने वाला ब्लूलाइट से जो मात्रा में आंखो को हानि पौंछ ता है वो साईद ही किसी  इलेक्ट्रॉनिक devices में से निकलने वाला ब्ल्यूलाइट से होगा।
 दोस्तो अब सवाल आता है कि हम इससे बचे कैसे।तो जानते हैं कुछ ऐप की बारे में जिसके उपयोग से ब्लुलाइट की प्रॉब्लम काफी हद तक टला जा सकता है।
Bluelight Filter:- दोस्तो ये ऐप ब्लूलाइट के लिए बोहोत उपयोगी साबित होता है।ये ऐप अच्छा performence देता है ।ओर यह गूगल प्ले स्टोर में आसानी से मिल जाता है।
Twilight:- दोस्तो ये ऐप भी गूगल प्लेस्टोर में मिलने वाला ब्लुएलाइट के लिए बोहोत ही असरदार है।
ये तो हो गया दोस्तो टेक्नोलॉजी से सॉल्यूशन का,लिकिन अगर आप इस प्रॉब्लम को जड़ से खत्म करना चाहते
है तो आप रात में मोबाइल फोन का इस्तमाल कम से कम कर दीजे इससे आपको मोबाइल से लिकान वाले ब्लूलाइट का रोशनी देखना भी कम से कम पड़ेगा।
दोस्तो अंत में यही कहना चाहूंगा कि हम सब के पास एक “स्मार्ट” फोन है लिकिन इसका यह मतलब नहीं कि हम बेयोकुफ बन जाए।तो इसलिए आप को अपने मोबाइल का ध्यानपूर्वक इस्तमाल करना चाहिए ।
आशा करता हूं कि आप सबको मेरा यह आर्टिकल पड़के आच्छा लगा होगा।तो इसी बात के साथ आज के लिए इतना ही।
                 जय हिंद
                             बंदे मातरम........

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ